zahnggiljah.com is provided in English. Would you like to change to English?

365 दिनों तक 36.5 डिग्री सेल्सियस पर रहना

28 नवंबर 2012 को 13वें नया जीवन कॉन्सर्ट में

नवम्बर 28, 2012
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

शायद आप परमेश्वर की सृष्टि की कहानी को जानते हैं जब उन्होंने मनुष्यों को भूमि की मिट्टी से बनाया। जब परमेश्वर ने अपने 36.5℃(97.7℉) प्रेम को मिट्टी के ठंडे ढेले में मिला दिया, तब मनुष्य ने जीवन प्राप्त किया। इस प्रकार परमेश्वर ने लोगों को बनाया। परमेश्वर ने एक ऐसा वर्ष बनाया जिसमें लोगों के जीने के लिए 365 दिन हों। 36.5 डिग्री सेल्सियस और 365 दिन जीवन और प्रेम की प्रतिक्रिया हैं, जो सृष्टिकर्ता की अदृश्य प्रयोजन में बनाई गई हैं। स्वर्ग की इच्छा वर्ष में 365 दिनों के लिए 36.5 डिग्री सेल्सियस पर एक प्रेम भरे हृदय से जीने की है।

मुझे आशा है कि इस कॉन्सर्ट के माध्यम से हम अपने जीवन में पीछे मुड़कर देखें और प्रेम और मुश्किलों में घिरे अपने पड़ोसियों के लिए आशा दें। मैं चाहती हूं कि यह पल सभी लोगों के हृदय में हमेशा जीवन और प्रेम के रूप में बना रहे।